Get it on Google Play تحميل تطبيق نبأ للآندرويد مجانا اقرأ على الموقع الرسمي

सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु – एयर इंडिया की महिला पायलटों ने रचा इतिहास, नॉर्थ पोल पर भरी उड़ान

VSK Bharat

नई दिल्ली. भारतीय महिलाओं के उत्साह और बहादुरी की धमक पूरी दुनिया सुन रही है. अभी हाल ही में एयर इंडिया की 4 महिला पायलटों की साहस ने पूरी दुनिया में प्रशंसा बटोरी. महिला पायलटों की टीम ने दुनिया के सबसे लंबे हवाई मार्ग नॉर्थ पोल पर उड़ान भर एक नया इतिहास रचा. महिला पायलटों की टीम अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को से उड़ान भरने के बाद नॉर्थ पोल से होते हुए बेंगलुरु के केम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंची. उन्होंने अपनी यात्रा के दौरान लगभग 16,000 किमी. की दूरी तय की.

फ्लाइट के भारत में लैंड करते ही एयर इंडिया ने अपने ट्विटर हैंडल से स्वागत किया. एयर इंडिया ने ट्वीट किया – ‘वेलकम होम, हमें आप सभी (महिला पायलटों) पर गर्व है. हम AI176 के यात्रियों को भी बधाई देते हैं, जो इस ऐतिहासिक सफर का हिस्सा बने.’

विमान की महिला पायलट टीम में कैप्टन जोया अग्रवाल, कैप्टन पापागरी तनमई, कैप्टन शिवानी और कैप्टन आकांक्षा सोनवरे शामिल थीं. इस विमान को लीड कैप्टन जोया अग्रवाल कर रही थीं.

बेंगलुरु एयरपोर्ट पर लैंडिंग के बाद कैप्टन जोया अग्रवाल ने कहा – आज हमने न केवल उत्तरी ध्रुव पर उड़ान भरकर, बल्कि केवल महिला पायलटों द्वारा इसे सफलतापूर्वक करके एक विश्व इतिहास रचा है. हम इसका हिस्सा बनकर बेहद खुश और गर्व महसूस कर रहे हैं. इस मार्ग ने 10 टन ईंधन बचाया है.

Today, we created world history by not only flying over the North Pole but also by having all women pilots who successfully did it. We are extremely happy and proud to be part of it. This route has saved 10 tonnes of fuel – Captain Zoya Aggarwal at Bengaluru airport

सैन फ्रांसिस्को-बेंगलुरु की उद्घाटन फ्लाइट का संचालन करने वाली टीम में से एक पायलट शिवानी ने कहा कि यह एक रोमांचक अनुभव था, क्योंकि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था. यहां पहुंचने में लगभग 17 घंटे लग गए.

It was an exciting experience since it was never done before. It took almost 17 hours to reach here: Shivani Manhas, one of the four pilots who operated Air India’s inaugural San Francisco-Bengaluru flight

जब यह विमान सैन फ्रांसिस्को से चला था, उसके बाद से ही इसकी हर लोकेशन की जानकारी खुद एयर इंडिया अपने ट्विटर हैंडल से समय-समय पर दे रहा था. इतना ही नहीं, सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप पुरी ने भी इसे लेकर ट्वीट किया.

सिविल एविएशन मंत्री हरदीप पुरी ने अपने ट्वीट में लिखा – ‘सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु तक का ये ऐतिहासिक सफर महिला पायलटों की वजह से वंदे भारत मिशन को और भी खास बनाता है. मिशन ने अब तक 46.5 लाख से अधिक लोगों की अंतरराष्ट्रीय यात्रा की सुविधा प्रदान की है.

एयर इंडिया के पायलट पहले भी ध्रुवीय मार्ग पर उड़ान भर चुके हैं, मगर ऐसा पहली बार है जब कोई महिला पायलट टीम ने उत्तरी ध्रुव पर उड़ान भरी है.

जानकारी के अनुसार उड़ान संख्या एआई-176 शनिवार को सैन फ्रांसिस्को से रात 8:30 बजे (स्थानीय समयानुसार) रवाना हुई और यह सोमवार तड़के 3:45 बजे यहां पहुंची. एयर इंडिया ने ट्वीट किया, ‘इसकी कल्पना कीजिए – सभी महिला कॉकपिट सदस्य – भारत आने वाली सबसे लंबी उड़ान – उत्तरी ध्रुव से गुजरना और यह सब हो रहा है! रिकॉर्ड टूट गए. एआई-176 द्वारा इतिहास रचा गया. एआई-176, तीस हजार फुट की ऊंचाई पर उड़ान भर रहा है.’

The post सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु – एयर इंडिया की महिला पायलटों ने रचा इतिहास, नॉर्थ पोल पर भरी उड़ान appeared first on VSK Bharat.

January 14th 2021, 10:18 am
اقرأ على الموقع الرسمي

0 comments
Write a comment
Get it on Google Play تحميل تطبيق نبأ للآندرويد مجانا